Login

User Name

error

Password

Forgot password ?

Email

Sign Up


Events



  • 01-02 Aug 2017

    SANKET, Bhopal organised two days (1-2 August 2017) training workshop at Bhopal on “Gender Responsive Budgeting and Gender Mainstreaming” for the Civil society organizations working on gender issues in Madhya Pradesh and Chhattisgarh.

  • 04-06 Jul 2017

    Sanket taken part as a resource organization in the training workshop organized by UN Women on “Advance Training on Gender Responsive Budgeting” 4-6 July 2017 at Administration Academy, Bhopal for the Government Officials of 7 Departments ( Women and child development, Technical Education, School Education, Higher Education, Fisheries, Irrigation and Agriculture department) of Madhya Pradesh

  • 11 Mar 2017

    अम्बिकापुर, छत्तीसगढ़ राज्य में स्वास्थ्य क्षेत्र के मुद्दों पर जिला स्तरीय परिचर्चा बैठक:- संकेत डेवलपमेंट ग्रुप- रायपुर, जन स्वास्थ्य अभियान छत्तीसगढ़, पब्लिक हेल्थ रिसोर्स नेटवर्क - रायपुर एवं चौपाल ग्रामीण विकास प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान - अम्बिकापुर द्वारा दिनांक 11 मार्च 2017 को होटल कुमकुम, ब्रम्ह रोड, अम्बिकापुर में छत्तीसगढ़ राज्य में स्वास्थ्य क्षेत्र के मुद्दों पर एक दिवसीय परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस परिचर्चा में राज्य के बलरामपुर, सूरजपुर, जशपुर, कोरिया, और रायपुर जिलों से विभिन्न संस्थाओं के लगभग 45 महिला एवं पुरुषों ने भाग लिया। परिचर्चा के मुख्य बिंदु इस प्रकार थे : १) स्वास्थ्य केंद्रों की वर्तमान स्थिति, अधोसंरचना, पहुँच और सेवाओं का स्तर। २) कुशल मानव संसाधन, दवाई की उपलब्धता और उपचार की स्थिति। ३) स्वास्थ्य बजट और योजनाएं। ४) स्वास्थ्य योजनाओं का क्रियान्वयन, व्यावहारिक समस्याएं और मुद्दे। उपरोक्त संस्थाएं द्वारा पिछले कई वर्षों से छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतरी, कुशल मानव संसाधन की उपलब्धता, उपचार, दवाई, सेवाओं के स्तर और स्वास्थ्य बजट आदि विभिन्न पहलुओं पर अध्धयन और विश्लेषण का कार्य कर रहा है। साथ ही यह संस्था समूह स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के लिए छत्तीसगढ़ राज्य शासन के साथ संपर्क, संवाद और पैरवी के प्रयासों में भी संलग्न है। संस्थाओं द्वारा किये गए बजट विश्लेषण से पता चला कि स्वस्थ्य क्षेत्र हेतु बजट प्रावधान पहले से ही बहुत कम हैं उस पर भी समय से राशि जारी नहीं होती और देर से बजट राशि जारी होने के कारण इसका सही और पूर्ण उपयोग नहीं हो पाता जिससे जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता हैं। स्वास्थ्य केंद्रों में कुशल डॉक्टरों और तकनीकी सहायकों जैसे मानव संसाधन की बहुत कमी है। इसके साथ ही चर्चा में उपस्थित लोगों द्वारा बताया गया कि मितानिनों को प्रोत्साहन राशि मिलने में दिक्कतें आ रही हैं, शासकीय स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टर्स उपलब्ध नहीं हैं एवं दवाओं की भी अनुपलब्धता रहती है और मरीजों को पूरा और सही इलाज नहीं मिल पाता । जैसे कई मुद्दों पर गहन चर्चा की गयी ।

  • 20-21 Dec 2016

    Sharing of Internship Experiences and Training & Capacity Building on Budget Literacy at Gram Panchayat Level was organized by SANKET at Bhopal from 20 to 21 Dec 2016. SANKET’s Field Partners from 4 districts of Madhya Pradesh and 2 districts of Chhattisgarh attended and shared the work and experiences of gram Panchayat plan and budgets of respective districts in the meeting and finalized the advocacy plan of GP Level.

  • 10 Dec 2016

    A Pre-Budget consultation meeting was organised by SANKET on 10 Dec 2016 at Raipur, Chhattisgarh. Main objective of the meeting was to come up with some common understanding on the different issues and priorities to incorporate people's expectations and aspirations in the State Budget of Chhattisgarh for FY: 2017-18. More than 35 persons from various districts belonging to various Civil society organizations, social workers, Academicians, Developmental practiceners and peoples from electronic and print media participated in this Pre-budget Consultation on Chhattisgarh Budget 2017-18.

  • 30 Nov 2016

    A Pre-Budget Consultation meeting was organised by SANKET on 30 Nov 2016 in Bhopal. Main objective of the meeting was to come up with some common understanding on the different issues and priorities to incorporate people's expectations and aspirations in the State Budget of Madhya Pradesh for FY: 2017-18. More than 40 persons from various Civil society organizations, social workers, Academicians, Developmental practiceners and peoples from electronic and print media participated in the event to make the common citizen’s developmental agenda successful.